देश का दुर्भाग्य


जो भीख मांगकर खाए,
वह सबसे ऊँची जाति है। ( ब्राह्मण )
जो छीन कर खाये,
वह दूसरे नंबर की जाति है।( क्षत्रिय )
जो हेराफेरी करके खाये,
वह तीसरे नंबर की जाति है।( वैश्य )
जो मेहनत करके,उत्पादन करके खाये
वह सबसे नीच जाति है। ( शुद्र )
जितनी मेहनत कड़ी होती जायेगी,उतनी ही जाति नीची होती चली जायेगी.
Advertisements

Leave a comment

Filed under Caste Discrimination, Casteism, Dr B R Ambedkar

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s